Browse songs by

kaise ji_uu.ngaa mai.n agar tuu na banii merii saahibaa.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कैसे जिऊंगा मैं अगर तू न बनी मेरी साहिबां
डूब मरूंगी मैं अगर मैं न बनी तेरी साहिबां

लाखों हज़ारों में सैयां मैने चुन लिया
लाखों हज़ारों ने फ़ैसला ये सुन लिया
एक दूजे के वास्ते हम बने मेरे साजना
मेरी साहिबां ...

रातें गुज़रती हैं सारी रात जाग के
दिल चाहे आ जाऊं घर से मैं भाग के
ओ आना मगर डोली में बैठ कर मेरी साहिबां
मेरी साहिबां ...

कहती है क्या मुझसे पायल तेरे पांव की
एक सीधी सादी सी लड़की मैं गांव की
तेरे होंठों की बांसुरी बन गई मेरे साजना
तेरी साहिबां ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image