Browse songs by

kahii.n bhii meraa Thikaanaa nahii.n zamaane me.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कहीं भी मेरा ठिकाना नहीं ज़माने में
न आशियाने के बाहर न आशियाने में

अभी बिछाए थे तिनके कि गिर पड़ी बिजली
बना न था कि आग लगी आशियाने में

'क़मर' किसी से भी इसका इलाज हो न सका
हम अपने दाग़ फिरे दिखाते ज़माने में

Comments/Credits:

			 % Credits: This lyrics were printed in Listeners' Bulletin 
% Vol #77 under Geetanjali #67
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image