Browse songs by

kahanaa hai jo dil se kaho ... mubhabbat ho ga_ii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


अभि: कहना है जो दिल से कहो, दिलबर मेरे दिल में रहो हो ओ
मुहब्बत की नहीं है, मुहब्बत हो गई है -२
अब डरना भी क्या ओ, ओ ओ ओ हो
अल: शरारत की नहीं है शरारत हो गई है -२
अब करना भी क्या ओ, ओ ओ ओ ओ

अभि: दुनिया की बातों को ये पगला नहीं मानता
ये प्यार हो जाए कब कोई नहीं जानता
अल: बर्फ़ीले मौसम में भी शोला भड़कने लगे
ना जाने कैसे कहाँ ये दिल धड़कने लगे
मुहब्बत की नहीं है, मुहब्बत हो गई है
अब डरना भी क्या ओ, ओ ओ ओ हो

को: ओया ओये

अल: दीवानगी ने तेरी मजबूर इतना किया
सोचा न समझा सनम सब कुछ तुझे दे दिया
अभि: साँसों में गर्मी तेरी धड़कन में तेरा नशा
तेरी भी चाहत में है जादू कोई दिलरुबा
अल: शरारत की नहीं है शरारत हो गई है
अब करना भी क्या ओ, ओ ओ ओ ओ
अभि: मुहब्बत की नहीं है, मुहब्बत हो गई है
अब डरना भी क्या ओ, ओ ओ ओ हो

अभि: कहना है जो दिल से कहो
अल: दिलबर मेरे दिल में रहो हो ओ

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image