Browse songs by

Kaamoshii thii mach gayaa shor

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


खामोशी थी मच गया शोर
आया आया मेरे दिल का चोर
वो तुम नहीं वो तुम नहीं वो तो है कोई और
खामोशी थी मच गया ...

मैं भला क्या करूं वो सुने न मेरी दास्तां
बेरहम बेखबर है उसे क्या खबर
उसपे तो मेरा न चले जान-ए-मन कोई ज़ोर
खामोशी थी मच गया ...

मैं यहां तो कहां ढूंढती है उसी को नज़र
छोड़े ना बेरुखी मेरा जान-ए-जां मेरा दर्द-ए-जिगर
हुस्न की ये अदा देख न दिलरुबा
न जुड़े दिल के अरमानों से चाहत की डोर
खामोशी थी मच गया ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image