Browse songs by

jiivan kii biinaa kaa taar bole

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


जीवन की बीना का तार बोले
सान्सोन में सुर का सिन्गार बोले
ह्रिदय की धदकन में प्यार बोले
जाने क्या बोले, क्या बोले क्या बोले क्या बोले
ओ जाने क्या बोले क्या बोले क्या बोले

किसने सुनाके सुरीले सी तान, मेरे कानों में रस दिया घोल रे
किस्की रसीली तरंगों ने मेरे दिल को किया डाँवाडोल रे
दिल को किया डाँवाडोल रे
मन के चमन की बहार बोले
कोयल की मीठी पुकार बोले
झान्झर की झन झन झन्कार बोले
जाने क्या बोले थेरेएदोत्स

सागर की लहरे सुनाये रे सर्गम,बादल का रन्ग हुआ लाल रे
कैसा ये गीत आज गाया गगन ने,धर्ती भी देने लगी ताल रे
धर्ती भी देने लगी ताल रे
चन्दा की किरनोन का हार बोले
इठलाते झरनोन कि धार बोले
मन का पपीह बार बार बोले
जाने क्या बोले थेरेएदोत्स

Comments/Credits:

			 % Transliterator:Srinivas Ganti
% Date:17 June 2001
% Comments:LATAnjali
% Credits:Chetan Vinchhi,Balaji Murthy
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image