Browse songs by

jhuuTh bol naa sach baat bol de

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


झूठ बोल ना सच बात बोल दे आज ना छुपा हर भेद खोल दे
क्या मिला तुझे एक झूठ बोले के सोच के ज़रा मुझे बता

बागबां ने दोस्ती का क्या सिला दिया
फूल खिल रहा खाक में मिला दिया
इंतज़ार नहीं अब किसी बहार का
आशियां उजड़ गया किसी के प्यार का
रुसवा हुए हम बेवजह की तूने कैसी खता ये बता
झूठ बोल ना ...

रो रहा है आसमां ज़मीं उदास है
ज़ुंदगी में एक अनबुझी सी प्यास है
दर्द के भंवर में डूबने लगा है मन
दूर दूर तक नहीं उम्मीद की किरन
सपनों की वो मंज़िल मिले ऐसा कोई रास्ता मुझे बता
झूठ बोल ना ...

जी रहा हूँ सिर्फ़ इम्तहान के लिए
जान भी मैं दूंगा अपनी जान के लिए
आ गई है तेरे फ़ैसले की अब घड़ी
जोड़ दे या तोड़ दे दिलों की अब कड़ी
साथी बिन मर जाऊंगा क्या ये तुझे है पता मुझे बता
झूठ बोल ना ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image