Browse songs by

jab shaam kaa suuraj Dhalataa hai - - Hemant

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


जब शाम का सूरज ढलता है
छुप छुप के चाँद के साये में
कोई मुझे पुकारा करता है
जब शाम का सूरज ...

जब होश में तारे आते हैं
बेख़ुद रात हो जाती है
मेरे कानों में धीरे धीरे
आवाज़ किसी की आती है
जब शाम का सूरज ...

कहीं आँख ज़रा सी लग जाये
सपनों की राणी आती है
मैं उस से आँख चुराऊँ
वो उल्फ़त की साज़ बजाती है
जब शाम का सूरज ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Prithviraj Dasgupta
% Date: Jan 1, 2001
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image