Browse songs by

jab jab bahaar aa_ii aur phuul muskuraaye

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


जब जब बहार आई
और फोओल मुस्कुराये
(मुझे तुम याद आये) -२
जब जब भी चाँद निकला
और तारे जगमगाये
(मुझे तुम याद आये) -२

(इक प्यार और वफ़ा की तसवीर मानता हूँ) -२
तसवीर क्या, तुम्हें मैं तक़दीर जानता हूँ हो~~
देखी नज़र ने ख़ुशियाँ, या देखे ग़म के साये
(मुझे तुम याद आये) -२

(अपना कोई तराना मैं ने नहीं बनाया) -२
तुम ने मेरे लबों पे हर एक सुर सजाया... ओ...
जब जब मेरे तराने दुनिया ने गुन्गुनाये
(मुझे तुम याद आये) -२

(मुम्किन है ज़िंदगानी कर जाये बेवफ़ाई) -२
लेकिन ये प्यार वो है जिस में नहीं जुदाई... ओ...
इस प्यार के फ़साने जब जब ज़ुबाँ पे आये
(मुझे तुम याद आये) -२

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Achyut Joshi
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image