Browse songs by

jab diip jale aanaa, jab shaam Dhale aanaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


जब दीप जले आना, जब शाम ढले आना
सन्देस मिलन का भूल न जाना मेरा प्यार ना बिसराना
जब दीप जले आना ...

नित सांझ सवेरे मिलते हैं
उन्हें देखके तारे खिलते हैं
लेते हैं विदा एक दूजे से कहते हैं चले आना
जब दीप जले आना ...

नी रे ग, रे ग, म ग रे स स नी
प प म, रे ग, स नी स ग प म प

मैं पलकन डगर बुहारूंगा
तेरी राह निहारूंगा
मेरी प्रीत का काजल तुम अपने नैनों में मले आना
जब दीप जले आना ...

जहां पहली बार मिले थे हम
जिस जगह से संग चले थे हम
नदिया के किनारे आज उसी
अमवा के तले आना
जब दीप जले आना ...

Comments/Credits:

			 % Credits: rec.music.indian.misc (USENET newsgroup) 
%          Raj Ganesan (raj@everest.tandem.com)
%          KEDAR S NAPHADE (ksn2@lehigh.edu)
%          Preetham Gopalaswamy (preetham@src.umd.edu)
%          Ravi Subramanyam (ravi.subramanyam@intelsat.int)
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image