Browse songs by

jab bhii koii ka.nganaa bole paayal chhanak jaaye

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


जब भी कोई कंगना बोले पायल छनक जाये
सोयी सोयी दिल की धड़कन सुलग सुलग जाये
करूँ जतन लाख मगर मन मचल मचल जाये
मचल मचल जाये, जब भी कोई कंगना बोले

छलक गये रंग जहाँ पर उलझ गये नैना रे नैना
उलझ गये नैना
पाये नहीं मन बंजारा कहीं भी ये चैना रे चैना
कहीं भी ये चैना
मेरे मन की प्यास अधूरी मुझे भटकाये,
जब भी कोई कंगना बोले

कली कली झूमे रे भंवरा अगन पे जल जाये पतंगा
अगन पे जल जाये
चंदा को चकोर निहारे इसी में सुख पाये रे पाये
इसी में सुख पाये
जीवन से ये रस का बंधन तोड़ा नहीं जाये,
जब भी कोई कंगना बोले

Comments/Credits:

			 % Credits: rec.music.indian.misc (USENET newsgroup) 
%          Rajan P. Parrikar (parrikar@mimicad.Colorado.EDU)
%          C.S. Sudarshana Bhat (ceindian@utacnvx.uta.edu)
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image