Browse songs by

ishaq daa rog lagaa oye hoye ... jiivan ko jog lagaa ... tuu isakii jaan bachaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


इशक़ दा रोग लगा ओये होये
जीवन को जोग लगा ओये होये
तू इसकी जान बचा लेगा
इशक़ दा रोग लगा ...

कभी हो दर्द यहां कभी हो दर्द वहां ओये होये
जबां दी पीर बेदर्दी कैसी दर्द हो यहां वहां
कभी ऐसा भी हो जाएगा कोई इतना मुझे तड़पाएगा
नहीं था मुझको पता करूं क्या मुझको बता ओये होये
मैं बन गई प्रेम दीवानी
करूं क्या मुझे ...

मुझे कुछ न किसी के कहना था सच कहती हूँ चुप रहना था
ये कंगना बोल गया भेद सब खोल गया
छुपाया लाख मगर कंगन भेद वह खोल गया
सखी पूछ ज़रा बात हुई कब कैसे कहूं क्या बात हुई
मैं अंगना बीच खड़ी उनसे आँख लड़ी
शर्म से हो गई पानी मैं अंगना बीच खड़ी ओये होये
इशक़ दा रोग लगा ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image