Browse songs by

is nazaaqat ko ... tho.Daa resham lagataa hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


इस नज़ाकत को क़यामत से न कम समझो
हमें ऐ चाहने वालो न मिट्टी का सनम समझो

थोड़ा रेशम लगता है
हो थोओड़ा शीशा लगता है

( थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है
हीरे मोती जड़ते हैं
थोड़ा सोना लगता है
ऐसा गोरा बदन तब बनता है ) -२

थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है

ओ ( दिल को प्यार का रोग लगा के, ज़ख़्म बनाने पड़ते हैं
ख़ून-ए-जिगर से अरमानों के, फूल खिलाने पड़ते
हैं ) -२
दर्द हज़ारों उठते हैं
कितने काँटे चुभते हैं
कलियों का चमन तब बनता है

थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है
हीरे मोती जड़ते हैं
थोड़ा सोना लगता है
ऐसा गोरा बदन तब बनता है

थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है

ओ हो ओ ओ

(हँस के दो बातें क्या कर लीं, तुम तो बन बैठे सैयाँ
पहले इन का मोल तो पूछो, फिर पकड़ो हमरी बैयाँ) -२
दिल दौलत दुनिया तीनों
प्यार में कोई हारे तो
वो मेरा सजन तब बनता है

( थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है
हीरे मोती जड़ते हैं
थोड़ा सोना लगता है
ऐसा गोरा बदन तब बनता है ) -२

थोड़ा रेशम लगता है
थोओड़ा शीशा लगता है

ओ हो ओ ओ आ आ आ ओ ओ ओ ओ

Comments/Credits:

			 % Credits: Afzal A Khan
% Series: LATAnjali
% Comments: Its remix version "kaliyo.n kaa chaman tab
% banataa hai" has the same mukha.Daa (without the starting
% ash'aar). Rest of the lyrics are different.
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image