Browse songs by

he ik din kisii faqiir ne ... jisakaa ko_ii nahii.n usakaa to Kudaa hai yaaro

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


हे हे हे
इक दिन किसी फ़क़ीर ने इक बात कही थी
अब जा के दिल ने माना माना वो बात सही थी

जिसका कोई नहीं उसका तो ख़ुदा है यारो -२
( मैं नहीं कहता ) -२ किताबों में लिखा है यारों
जिसका कोई नहीं ...

( हम तो क्या हैं ) -२ वो फ़रिश्तों को आजमाता है -२
बनाकर हमको मिटाता है फिर बनाता है
( आदमी टूट के ) -२ सौ बार जुड़ा है यारों
जिसका कोई नहीं ...

इम्तहानों का यहाँ दौर यूँ ही चलता है -२
आँधियों में भी उम्मीदों का दिया जलता है
( कल की उम्मीद पे ) -२ इंसान जिया है यारों
जिसका कोई नहीं ...

( कब तलक हमसे ) -२ तक़दीर भला रूठेगी -२
इन अँधेरों से उजाले की किरण फूटेगी
( ग़म के दामन में ) -२ कहीं चैन छुपा है यारों
जिसका कोई नहीं ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image