Browse songs by

har taraf ab yahii afasaane hai.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


हर तरफ़ अब यही अफ़साने हैं
हम तेरी आँखों के दीवानें हैं
हर तरफ़...

इतनी सच्चाई है इन आँखों में
खोटे सिक्के भी खरे हो जायें
तू कभी प्यार से देखे जो उधर
सूखे जंगल भी हरे हो जायें
बाग बन जाए, बाग बन जाए जो वीरानें हैं
हम तेरी आँखों के दीवाने हैं
हर तरफ़...

एक हल्का सा इशारा इनका
कभी दिल और कभी जाँ लूटेगा
किस तरह प्यास बुझेगी उसकी
किस तरह उसका नशा टूटेगा
जिसकी क़िस्मत में, जिसकी क़िस्मत में ये पैमानें हैं
हम तेरी आँखों के दीवानें हैं
हर तरफ़...

नीची नज़रों में हैं कितना जादू
हो गए पल में कई ख्वाब जवाँ
कभी उठने कभी झुकने की अदा
ले चली जाने किधर जाने कहाँ
रास्ते प्यार के, रास्ते प्यार के अंजाने हैं
हम तेरी आँखों के दीवानें हैं - (२)
हर तरफ़...

Comments/Credits:

			 % Credits: C. S. Sudarshana Bhat (cesaa129@utacnvx.uta.edu)
%          Preetham Gopalaswamy (preetham@src.umd.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image