Browse songs by

ham kisako sunaaye.n haal ye duniyaa paise kii

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


हम किसको सुनायें हाल
ये दुनिया पैसे की -२
ओ नहीं पास हमारे माल
ये दुनिया पैसे की -२

कल हमारे पास भी बंगला था मोटर-कार थी
आज हैं शरनार्थी हम आज हैं शरनार्थी
पूछे न कोई हाल
ये दुनिया पैसे की -२

हम किसको सुनायें हाल
ये दुनिया पैसे की -२

हम लूटे ऐसे हमारा आसरा कोई नहीं
आज दुनिया में ग़रीबों का ख़ुदा कोई नहीं
देखा दुनिया का हाल
ये दुनिया पैसे की -२

हम किसको सुनायें हाल
ये दुनिया पैसे की -२

कदर बस दौलत की है दुनिया के इस बाज़ार में
मंदिरों से bankऊँचे बन गये संसार में
उल्टी इस जग की चाल
ये दुनिया पैसे की -२

हम किसको सुनायें हाल
ये दुनिया पैसे की -२

कुछ तो ऐ दुनिया के मालिक कर ग़रीबों का ख़याल
भेज हलवा भेज पूरी भेज रोटी भेज दाल
कब तक गाये कंगाल ये दुनिया पैसे की -२
ये दुनिया पैसे की

भेज हलवा भेज पूरी भेज रोटी
भेज दाल
भेज रोटी
भेज दाल
भेज पूरी
भेज दाल
भेज

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image