Browse songs by

hai yahaa.n ko_ii mard ... Das

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image

है यहां कोई मर्द हिन्दुस्तानी जो मुझे छू सके
हो हो
साँसें मेरी तूफ़ानी बेकाबू ये जवानी
काबू कोई मुझपे पा ना सका
हर अंग में तन में चिंगारी ये बदन की
कोई बुझाए बुझा ना सका
आ बुझा दे बस होश उड़ा दे डस हो हो हो हो

जादू हूँ जवां हूँ खुश्बू हूँ मैं हवा हूँ
मैं ही महकता हुआ हूँ समां
रंगीली मैं दीवानी नशीली मैं मस्तानी
मैं जाम हूँ जाम का मैं नशा
आजमा ले बस होश उड़ा दे डस

मैं हूँ हवा का झोंका हवा को किसने रोका
टोका है लहरों को किसने यहां
सूरज की किरणों जैसे जंगल में हिरणों जैसे
बादल भी आवारा घूमें जहां
दिल चुरा ले बस होश उड़ा दे डस हो हो हो हो
साँसें मेरी तूफ़ानी ...

वन्दे मातरम वन्दे मातरम
है यहां कोई मर्द जो मुझे छू सके
आँखों से परदा हटा दे नज़रों से नज़रें लड़ा ले
हे जलाकर जवानी चिंगारियों को हवा दे
मर्दों में तू ही तो इक मर्द है
अपनी मर्दानगी आ दिखा दे दिखा दे
उड़ा दे मेरे होश बस डस
हाँ तू चाहिए मुझको बस डस
मेरी राहों में निगाहों में आ फंस
आ ले ले मुझे पनाहों में और कस
डस डस डस डस

जय हिंद कहो जय हे जय हे इस वतन की जय इस चमन की जय

क़ातिल जवानी जालिम समां
होने लगी है फ़िज़ा बदगुमां
हर जिस्म प्यासा है हर रूह प्यासी है
ऐसे में जान-ए-जां दूरी है क्यों दर्मियां
मुझसे जो नज़र मिलाता है
मेरी लौ में वो हो जाता है फ़ना
मेरी आग से खेला है तूने
हो जाएगा तू जल जल ये धुआं
बरसों की तरसी ये नज़र है
बरसों के प्यासे ये अधर हैं
ना तरसा मुझे ना तरस
डस डस डस डस

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image