Browse songs by

gum sum saa ye jahaa.N

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गी : ओ~ ओ~ ओ~
हे : ओ~ ओ~

गी : गुम सुम सा ये जहाँ, ये रात ये हवा
हे : एक साथ आज दो दिल धड़केंगे दिल्रुबा
दो : गुम सुम सा ये जहाँ, ये रात ये समा

हे : देखो वो चाँद बदली की ओट में छुपने लगा
गी : ये नील गगन भी प्यार के आगे झुकने लगा
हे : इतनी हसीन
गी : इतनी शरीर
हे : है चाँद की ये अदा
दो : गुम सुम सा ये जहाँ, ये रात ये हवा

गी : उल्फ़त में चूर दुनिया से दूर हम आ ही गये
हे : मंज़िल के पास अब तो हुज़ूर हम आ ही गये
गी : चाहत के फूल
हे : देखें न धूल
दो : डाली से न हो जुदा

दो : गुम सुम सा ये जहाँ, ये रात ये हवा
एक साथ आज दो दिल धड़केंगे दिल्रुबा
गुम सुम सा ये जहाँ, ये रात ये समा

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image