Browse songs by

giit kitane gaa chukii huu.N - - Asha

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गीत कितने गा चुकी हूँ इस सुखी जग के लिये
आज रोने दो मुझे पल एक अपने ही लिये

रो रही थी बीन और सुन कर सुखी संसार था
नाचती थी उँगलियाँ और कांपता हर तार था

आज टूटा तार मेरे बीन का आघात से
आज कुम्हलाया कुसुम मेरा अधिक बरसात से

साज़ धोने दो नयन की अश्रु खोने दो मुझे
कल सुनाऊँगी मधुर कुछ आज रोने दो मुझे

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image