Browse songs by

ga.ngaa bhii bah rahii hai ... log to mar kar jalate ho.nge

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गंगा भी बह रही है चिताओं के साथ-साथ
शोले भी चल रहे हैं हवाओं के साथ-साथ -२

लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ -२
आँख में सपने फूलों के और अंगारों पर चलता हूँ
लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ

सूरज तो दिन भर चल-चल कर शाम कर थक कर ढल जाता है -२
मैं वो सूरज हूँ जो निकल कर पल भर ही में ढलता हूँ

लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ
आँख में सपने फूलों के और अंगारों पर चलता हूँ
लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ

मर कर वापस कौन आया है मैं मर कर वापस आया -२
जब ये जीना रास न आया फिर मरने को चलता हूँ

लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ
आँख में सपने फूलों के और अंगारों पर चलता हूँ
लोग तो मर कर जलते होंगे मैं जीते जी जलता हूँ

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image