Browse songs by

gale lagaa ke jo sunate the dil kii aaho.n ko - - Talat

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


गले लगा के जो सुनते थे दिल की आहों को
तरस रहा हूँ उन्हीं की हसीन बाहों को

कदम-कदम पे वो आँखें बिछा-बिछा देना
ज़रूर याद तो होगा तुम्हारी राहों को

दोहाई है तेरी ऐ राहज़न दोहाई है
कि आज लूट लिया राहबर ने राहों को

मिले न फिर तेरे दामन में दाग़ उन के शमीम
शराब-ए-नाब से धोया है जिन आहों को

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image