Browse songs by

ek jurm karake hamane chaahaa thaa muskuraanaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


एक जुर्म करके हमने चाहा था मुस्कुराना
मरने न दे मोहब्बत, जीने न दे ज़माना

हम बेताल्लुक़ी की रस्में निभा देंगे
पर तुम न याद करना, पर तुम न याद आना

ये सोचकर बुझा दी ख़ुद शमा आर्ज़ू की
शायद हो रोशनी में, मुश्किल नज़र मिलाना

जब अश्क पी लिये हैं, जब होंठ सी लिये हैं
तब पूछती है दुनिया, मुझसे मेरा फ़साना

एक जुर्म करके हमने चाहा था मुस्कुराना

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar 
% Date: 10/25/1996
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image