Browse songs by

do pa.nchhii bechain nain ke - - Manna Dey

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


दो पंछी बेचैन नैन के
दो पंछी बेचैन
खो बैठे हैं चैन नयन के
दो पंछी बेचैन

बांध लिया जो प्रीत का बंधन
बंधन टूटे ना
रंगा लिया जिस रंग में जीवन वो रंग छूटे ना
रस बरसे दिन रैन नैन के
दो पंछी बेचैन

आजा मन के मीत लगा लें
हम सपनों के मेले
दूर है मंज़िल चल न सकूंगा ल.म्बी राह अकेले
महक उठे हर बैन नैन के
दो पंछी बेचैन

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Uday Patel, 2003-02-15
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image