Browse songs by

do chamakatii aa.Nkho.n me.n kal Kvaab sunaharaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


दो चमकती आँखों में कल ख़्वाब सुनहरा था जितना
हाय, ज़िंदगी तेरी राहों में आज अँधेरा है उतना
दो चमकती आँखों में ...

हम ने सोचा था जीवन में फूल, चाँद और तारे हैं
क्या ख़बर थी साथ में इनके काँटे और अंगारे हैं
हम पे क़िस्मत हँस रही है,
हम पे क़िस्मत हँस रही है कल हँसे थे हम जितना
दो चमकती आँखों में ...

इतने आँसू इतनी आहें दिल के दामन पे लेकर
जाने कब तक चलना होगा सूनी सूनी राहों पर
ऐ मुक़द्दर ये तो बता दे,
ऐ मुक़द्दर ये तो बता दे मुझको सहना है कितना
दो चमकती आँखों में ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Nimish Pachapurkar
% Date: Dec 3, 2002
% Comments: GEETanjali Series
% Directed by: Shakti Samanta
% generated using giitaayan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image