Browse songs by

dillii kii galiyo.n me.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ज़ोहरा :
दिल्ली की गलियों में जिया नाही लागे
मैं तो देखूँगी बम्बई
वादा करके बीत गये है मार्च, अप्रैल और मई
मैं तो देखूँगी बम्बई ...

दु : अरे दिल्ली ना छोड़ ये तो अपना है देस
ज़ो : चलें हम तुम बम्बई वहाँ देखेंगे race
दु : यहाँ दिल के तमाशे, यहाँ नैनों के खेल
यहाँ क़ुतुब साब की लाट
ज़ो : वहाँ दादर और परेल
मिल जाएंगे उस नगरी में तेरे जैसे कई
मैं तो देखूँगी बम्बई ...

दु : यहाँ सखियाँ भी हैं, तोरी मैंया भी है
यहाँ तोरी ननदिया का भैया भी है
ज़ो : वहाँ इज़्ज़त भी है और रुपैया भी है
वहाँ सैगल भी है और सुरैया भी है
क्या करूँगी दिल्ली में मैं
यई यई यई यई यई
मैं तो देखूँगी बम्बई ...

Comments/Credits:

			 % Date :  01 March 2004
% Comments : GEETanjali Series
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image