Browse songs by

dil machal rahaa hai ra.ng badal rahaa hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


दिल मचल रहा है रंग बदल रहा है
आग दिल में लगी है बुझा दे ना
अभी समा नहीं है रंग जमा नहीं है
चार दिन और यूँही बिता देना
दिल मचल रहा ...

ये बेरुख़ी कैसी
हैं चार दिन इस ज़िन्दगी के
दो दिन जवानी के हैं वो तो
आ जा ना मिल के बिताएँ सनम
ये दिल्लगी छोड़ो
कोई हमें अगर हमें देख लेगा तो
डर है कि दुनिया कि नज़रों में ऐसे ही रुसवा न हो जाएँ हम
क्या करेगी दुनिया जल मरेगी दुनिया
तू जलन मेरे दिल की बुझा देना
अभी समा नहीं ...

आऊँगी डोली में सजधज के जब घर पिया के कभी
तो कर लेना जी भर के पूरे तू अरमाँ जान-ए-जाँ दिल के सभी
देखो ये तन्हाई जो हमें फिर मिलेगी तू लग जा गले से
उठा है मुहब्बत का तूफ़ान दिल में अभी
तू मान जा सैंया अब छोड़ दे बैंया
जागे अरमाँ अभी तो सुला दे ना
दिल मचल रहा ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image