Browse songs by

dil kii aavaaz bhii sun, mere fasaane pe na jaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


दिल की आवाज़ भी सुन मेरे फ़साने पे न जा
मेरी नज़रों की तरफ़ देख ज़माने पे न जा

इक नज़र फ़ेर ले जीने की इजाज़त दे दे
रूठने वाले वो पहली सी मुहब्बत दे दे
(इश्क़ मासूम है - २), इलज़ाम लगाने पे न जा

वक़्त इनसान पे ऐसा भी कभी आता है
राह में छोड़के साया भी चला जाता है
(दिन भी निकलेगा कभी - २), रात के आने पे न जा

मैं हक़ीक़त हूँ ये इक रोज़ दिखाऊँगा तुझे
बेगुनाही पे मुहब्बत की रुलाऊँगा तुझे
दाग दिल के नहीं मिटते हैं मिटाने पे न जा

Comments/Credits:

			 % Credits: C. S. Sudarshana Bhat (cesaa129@utacnvx.uta.edu)
%          Venkatasubramanian K Gopalakrishnan (gopala@cs.wisc.edu)
%          Preetham Gopalaswamy (preetham@src.umd.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image