Browse songs by

dhiire dhiire Dhal rii chandaa dhiire dhiire Dhal

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


धीरे धीरे ढल री चन्दा धीरे धीरे ढल
आज की ये रात मन्द फिर न आये कल
ओ चन्दा धीरे धीरे ढल ...

स्वप्न बचपन के अधूरे
हो रहेंगे आज पूरे
फिर न जाने कब आयेंगे ये सुनहरे पल
ओ चन्दा धीरे धीरे ढल ...

प्रीत की दुल्हन सजी है
मन में शहनाई बजी है
आज घुलने दे नयन में रात का काजल
ओ चन्दा धीरे धीरे ढल ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
% Credits: Surajit Bose
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image