Browse songs by

dharatii kii god me.n

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


धरती की गोद मे
आसमाँ के छाँव मे
कब से खड़ा है यह ताज
छुपाए मन मे मुहब्बत का राज़
के सुन लो इसकी दिल की आवाज़

दुनिया के आशीक़ों
दुनिया के प्रेमीयों
सुन लो मुहब्बत का राज़
पत्नी के वास्ते बीवी के वास्ते
बनता यहाँ ऐसा ताज
बनता यहाँ ऐसा ताज
बीवी को छोड़ के गैरों से जो.ऱ के
तोड़े जो अपनों से प्रीत
पैसों के वास्ते ऐसी महलों में
गाया नहीं जाए गीत
कभी गाया नहीं जाए गीत

बेगम के रूप में सोया हैं प्यार यहाँ
आहिस्ता आहिस्ता बोल
अपने जिगर को शाहेनशाह के
इस प्रेमी कलेजे से तोल
मंदिर ये प्यार का
तीरथ संसार का
उलफ़त का है ये मज़हार
भटके हुए को केहता है बार बार
सुन लो रे इस की पुकार
सुन लो रे इस की पुकार

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image