Browse songs by

chhe.D mere hamaraahii giit ko_ii aisaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


छेड़ मेरे हमराही गीत कोई ऐसा
उम्र भर हम जिसे गुनगुनाते रहें
छेड़ मेरे हमराही ...

मिलके न बिछड़ें ये दिल ये पल ये आँखें
आए ना आए ना ये रुत ये दिन ये रातें
मौसम बाग़ों में आते-जाते रहें
छेड़ मेरे हमराही ...

मुड़के न देखेंगे ये पल ये राहें
पीछे रह जाएँ जीवन की सब सीमाएँ
राहों पे क़दम डगमगाते रहें
छेड़ मेरे हमराही ...

तन इक दीपक है साँस दीपक की बाती
हम दोनों के दिल बनके तारे ओ साथी
काली रातों में जगमगाते रहें
छेड़ मेरे हमराही ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image