Browse songs by

chamakaa ban kar aman kaa taaraa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


चमका बन कर अमन का तारा
प्रेम की धरती देश हमारा
जै जै हिंदुस्तान -३

अमन के दुश्मन जंग के बेटे, भूल गए हर चाल
atom bombसे जा टकराया, वीर जवाहर लाल
दुनिया ने एक साथ पुकारा, जै जै हिंदुस्तान
चमका बन कर ...

जंग के हाथों कितनी चूड़ियाँ, होती चकना चूर
जल जाता बारूद में कितने, माँगों का सिंदूर
तुझसे है सिंगार हमारा, जै जै हिंदुस्तान
चमका बन कर ...

धरती माता झूम रही है, भूली दुनिया जंग
क्या पीले क्या गोरे काले, मिल गए तीनों रँग
झंडा ऊँचा रहे हमारा, जै जै हिंदुस्तान
चमका बन कर ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar 
% Date: 10/24/1996
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image