Browse songs by

chaahe kitanii kaThin Dagar ho

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


श : य कही
दो : ( चाहे कितनी कठिन डगर हो
हम क़दम बढ़ाते जायेंगे
क़दम बढ़ाते हँसते-गाते
धूम मचाते जायेंगे ) -२
चाहे कितनी कठिन डगर हो

सु : जिस पथ पर तुम चरन धरोगे -२
अपने नैन बिछाऊँगी
( तुमरे पथ के काँटों को]
पलकों से उठाती जाऊँगी ) -२
जब लग प्रान रहेंगे -२
दो : एक-दूजे का साथ निभायेंगे

क़दम बढ़ाते जायेंगे
क़दम बढ़ाते हँसते-गाते
धूम मचाते जायेंगे
चाहे कितनी कठिन डगर हो

श : इस दुखियारे जग में तुम ही
नैनन का उजियारा हो
( सूने-लम्बे जीवन-पथ का
तुम ही एक सहारा हो ) -२
तुम संग हो तो पाँव मेरे
कभी न ठोकर खायेंगे

दो : क़दम बढ़ाते जायेंगे
क़दम बढ़ाते हँसते-गाते
धूम मचाते जायेंगे
चाहे कितनी कठिन डगर हो

सु : ( हमको मिल कर इस दुखियारे
जग को स्वर्ग बनाना है ) -२
( सब अपने हैं सबको
मानवता का प्यार सिखाना है ) -२
श : जो सबको उजियारा दे
सु : जो सबको उजियारा दे
दो : एक ऐसी ज्योत जलायेंगे
क़दम बढ़ाते जायेंगे
क़दम बढ़ाते हँसते-गाते
धूम मचाते जायेंगे
चाहे कितनी कठिन डगर हो

Comments/Credits:

			 % Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image