Browse songs by

buu.Nde.n nahii.n sitaare Tapake hai.n kahakashaa.n se

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


बूँदें नहीं सितारे टपके हैं कहकशां से
सदके उतर रहे हैं तुम पर ये आस्मां से
बूँदें नहीं सितारे टपके हैं कह्कशां से

मोती के रँग रुत के क़तरे दमक रहे हैं
या रेशमी लटों में जुगनू चमक रहे हैं
आँचल में जैसे बिजली कौन्दे यहाँ वहाँ से
सदके उतर रहे हैं तुम पर ये आस्मां से

देखे तो कोई आलम भीगे से पैरहन का
पानी में है ये शुला, या नूर है बदन का
अँगड़ाई ले रहे हैं, अरमां जवां जवां से
सदके उतर रहे हैं तुम पर ये आस्मां से

पहलू में आके मेरे क्या चीज़ लग रही हो
बाहों के दायरे में तस्वीर लग रही हो
हैरां हूँ के तुमको देखूँ कहाँ कहाँ से
सदके उतर रहे हैं तुम पर ये आस्मां से

बूँदें नहीं सितारे टपके हैं कहकशां से
सदके उतर रहे हैं तुम पर ये आस्मां से
बूँदें नहीं सितारे टपके हैं कह्कशां से

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar (rajiv@hendrix.coe.neu.edu) 
% Date: Thu Aug  3, 1995
% Credits: Shalini Razdan (shalini.razdan@atlantaga.attgis.com)
%          Kuntal Shah (kuntal@india.ti.com)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image