Browse songs by

baN ThaN chalii bolo ai jaatii ve jaatii re

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


बण ठण चली बोलो ऐ जाती वे जाती रे
बण ठण चली बोलो ऐ जाती रे

पैरों में तेरे घुंघरू की बिजुरिया
छन छन छन छन छनकाती रे
बण ठण चली ...

जो होना है आज हो जाए अरे घुंघरू चाहें टूट ही जाएं
आँधी आए तूफ़ां आएं या अम्बर झुक जाए हो
अरे बण ठण चली ...

ये माना गज़ब की है तेरी जवानी
स.म्भल हो न जाए कहीं पानी पानी
क्यूं भरता है आहें आओ लड़ा लें निगाहें
मैं ऐसी नदिया हूँ जो सागर की प्यास बुझाए ओ ओ
बण ठण चली ...

नशीली नशीली हैं तेरी अदाएं
जो देखे वो अपनी डगर भूल जाए
मुझे छू कर बना ले मुक़द्दर
जो मेरी आँखों में डूबे पार वही लग जाए ओ हो
अरे बण ठण चली ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image