Browse songs by

baiThe hai.n kyaa us ke paas

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


बैठे हैं क्या उस के पास आईना मुझ सा नहीं
मेरी तरफ़ देखिये

आईने की नज़र में ऐसी मस्ती कहाँ है
मस्ती मेरी नज़र की इतनी सच्ची कहाँ है
बैठे हैं क्या उस के पास ...

ये लब हम क्यूँ छू ले, यूँ ही आहें भरें क्या
हम से भी खूबसूरत तुम हो हम भी करें क्या
बैठें हैं क्या उस के पास ...

बीती है रात कितनी ये सब कुछ भूल जायें
जलती शम्में बुझा के आओ हम दिल जलायें
बैठें हैं क्या उस के पास ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Nimish Pachapurkar
% Comments: SDB Series #63
%                   Series also named: Sun Mere Bandhu Re.
% Date: 8 October 2002
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image