Browse songs by

badal jaaye duniyaa.N na badale.nge ham

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


बदल जाये दुनियाँ न बदलेंगे हम
तुम्हारी क़सम
तुम्हारे हैं कि जब तक दम में है दम
तुम्हारी क़सम

कहो नाम का उल्फ़त का बदनाम क्यों है
हमारी वफ़ाओं पे इल्ज़ाम क्यों है
बताओ तो होगा तुम्हारा क़रम
तुम्हारी क़सम
बदल जाये दुनियाँ ...

ये माना है मुश्किल मुहब्बत की राहें
अगर डाल दो तुम बाहों में बाहें
खुशी से सहेंगे तुम्हारे सितम
तुम्हारी क़सम
बदल जाये दुनियाँ ...

जहाँ तक जहाँ के नज़ारे रहेंगे
तुम्हारे रहे हैं तुम्हारे रहेंगे
न डोलेंगे उल्फ़त में अपने क़दम
तुम्हारी क़सम
बदल जाये दुनियाँ ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Vijay Kumar
% Credits: Ashok Dhareshwar, Neha Desai
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image