Browse songs by

baalam mujhase ruuTh ke sautan ke ghar jaate ho - - S D Burman

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


बालम मुझसे रूठ के, सौतन के घर जाते हो
सौतन के घर जाते
मुझ को क्यों रुलाते हो
मुझ को क्यों रुलाते हो, क्या मज़ा पाते हो
सौतन के घर जाते

कल भी तो थी मैं बालम, तुम्हारे गले की हार
दिल लागाकर मेरे बालम
दिल लागाकर मेरे बालम, तुम ने किया था प्यार ?
सौतन के घर जाते

हुई क्या ख़ता बतादो मुझको, मूँह जो तुम ने फेर लिया
प्रीत की रीत सिखाके मुझको, दिल से दूर हटा दिया -२
सौतन के घर जाते

Comments/Credits:

			 %Transliterator:Srinivas Ganti
% Date: 2001-11-08
% Comments: SDB series
% Credits: Urzung Khan
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image