Browse songs by

are saasuu tiirath sasuraa tiirath

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


अरे सासू तीरथ ससुरा तीरथ
सासू तीरथ ससुरा तीरथ तीरथ साला-साली है
दुनिया के सब तीरथ झूठे चारों धाम घरवाली है -२
सासू तीरथ ससुरा ...

बीवी जब रूठे तो याद आती है साली -२
साली जीजा को प्यारी है वो गोरी हो या काली
लेकिन अपनी क़िस्मत में तो साला है ना साली है
अरे चारों धाम घरवाली ...

बीवी तो अच्छी है वो होती जो नखरे वाली -२
फूलों से प्यारी लगती है जब-जब देती है गाली
तुहाडी ते सानूं पता नहीं -२
पर साडी ते मखणां वाली है
अरे चारों धाम घरवाली ...

बोलो घरवाली की जय
बोलो मखणां वाली की जय
अरे बोलो साथ में अपनी भी जय
नहीं नहीं नहीं घरवाली की ही ही ही जय

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image