Browse songs by

are dillii shahar me.n mhaaro ghaagharo jo ghuumyo

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


अरे दिल्ली शहर में म्हारो घाघरो जो घूम्यो
उई उई सब मर ग्या रे म्हारो घाघरो जो घूम्यो

थी में खेत में खड़ी खा री थी ककड़ी
ऊकी लाल पगड़ी जो म्हारी बांह पकड़ी
मन्ने गुस्सा घणो आयो उनें मारी लकड़ी
उनें मूंछा घुमाई मन्हे आँख्याँ दिखाई
फिर कांई होयो फिर कांई होयो
छोरी क्यूं अकड़ी क्यूं मारी लकड़ी
बोली मैं सुन सुन ओरे लाल पगड़ी
थी मैं खेत में खड़ी खा री थी ककड़ी
तूने बांह पकड़ी मैने मारी लकड़ी
तू कांई बोली तू कांई बोली
अरे दूर जा रे हट जा रे छोरा दूर हट जा रे हट जा
दूंगी मैं थने ऐसा झटका दूर हट जा रे हट जा
फिर दिल्ली शहर में ...

ऐ घूम्यो रे घूम्यो

ज़्यादा बातें न बना तू न जाने मैं हूँ कौन
छोरा मिनिस्टर को दिल्ली मारूं टेलिफ़ोन
मैं समझ न पाई ऊकी हंसी उड़ाई
दिल्ली जाके उन्हें मारी रपट लिखवाई
फिर कांई होयो फिर कांई होयो
सीटी सर सर बजाते पुलिस दौड़ी चली आई
कंगन म्हारा उतारा हथकड़ियां पहनाई
थानेदार के आगे फिर मैं मुस्काई
मैने दियो लटको उन्हें खायो झटको
थोड़ी टेढ़ी हुई थोड़ी मेढ़ी हुई
म्हारी कमर को मैने जरा सी मटकाई
थानेदार ने अपनी सारी अकल गंवाई
तू कांई बोली तू कांई बोली
अरे दूर हट जा रे ...

हुई म्हारी चर्चा निकला घणा मोर्चा
कोई प्रेसवाला कोई मोटा लाला
कोई संतरी जी कोई मंतरी जी कोई या बोले कोई वा बोले
मन्हे उठे ले ग्या मन्हे वठे ले ग्या
मन्हे रुपया खिलायो मन्हे बड़े धमकायो
मैं फिर भी न मानी मैने मन में थी ठानी
तू कांई बोली तू कांई बोली
अरे दूर हट जा रे ...

बोला सुन सुन सुन छोरी सुन सुन सुन
बात हंसी में उड़ा दे बात यही तू बता दे
नहीं तो होगी पिटाई सुनले गांव की लुगाई
मैं जोर से चिल्लाई इन्स्पेक्टर ने बुलाई
म्हारे सामने वो आयो उन्हें देखके शरमाई
थोड़ी सी मैं हंसी थोड़ी सी मुस्काई
फिर कांई होयो फिर कांई होयो
बोल्यो इन्स्पेक्टर जी बड़ो मंत्री जी
ऊको लड़को ये है बड़ो तगड़ो ये है
पैसा जेब में रख ले मुन्डो बंद कर ले
तू कांई बोली तू कांई बोली
अरे दूर हट जा रे ...

आयो मंत्री जी बोली मैं सुनो जी
थारो लाडलो कंवर डाले है नजर
मैं न रूप कंवर मरके बनूं जो अमर
थारो लाडलो कमीना मुश्किल करे जीना
नहीं मैं हूँ अमीना इके हाथ में बिकूं ना
म्हारे आगे इन्हें अब आएगा पसीना
फिर कांई होयो फिर कांई होयो
म्हारी चोली तू देख आगरा को तू देख
चुनर को देख घाघरा को तू देख
अरे दूर हट जा रे ...

नहीं लड़की मैं ऐसन नहीं लड़की मैं वैसन
म्हारी बात पे चाले गर्मी में सेशन
म्हारी बातां करे टी एन शेषन
म्हारे कौन है बाप म्हारो कौन सा गांव
सारी बातें जाने दिल्ली को राव
इलेक्शन में म्हारो नाम ले अडवानी
मर्दां से आगे निकलेगी जनानी
ये इन्हें टिकट दिलाओ इन्हें मंत्री बनाओ
चुनाव चिन्ह घाघरा ने बनाओ
vote forघाघरा vote forघाघरा
फिर दिल्ली शहर में ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image