Browse songs by

apano.n ko jo Thukaraa_egaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


अपनों को जो ठुकराएगा ग़ैरों की ठोकरें खाएगा
इक पल की ग़लतफ़हमी के लिए सारा जीवन पछताएगा

तूने समझा है जीत जिसे वो बन जाएगी हार कभी
ये मान तेरा अभिमान तेरा तुझपे ही करेगा वार कभी
ये चोट सही ना जाएगी ये दर्द सहा ना जाएगा
अपनों को जो ...

शादी दो दिन का मेल नहीं गुड्डे-गुड़ियों का खेल नहीं
ये प्यार दो इन्सानों का ये इश्क़ नहीं दीवानों का
इसमें ज़िद का कुछ काम नहीं ये जीवन संग्राम नहीं
भूलोगे तो खो जाओगे तुम दूर बहुत हो जाओगे
बच्चों के साथ गुज़र कब तक ये देंगे साथ मगर कब तक
जब वो भी हो जाएँगे बड़े तुम सोचोगे ये दूर खड़े
क्या सच है क्या सपना है अब दुनिया में क्या अपना है
इसलिए ये बंधन मत तोड़ो अपनी मर्यादा मत छोड़ो
आप में जो टकराओगे तो टूट के बस रह जाओगे
अपनों को जो ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image