Browse songs by

ai mohabbat tere a.njaam pe ronaa aayaa

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया
जाने क्यूँ आज तेरे नाम पे रोना आया

यूँ तो हर शाम उमीदों में गुज़र जाती थी
आज कुछ बात है जो शाम पे रोना आया

कभी तक़दीर का मातम कभी दुनिया का गिला
मंज़िल-ए-इश्क़ में हर गाम पे रोना आया

जब हुआ ज़िक्र ज़माने में मोहब्बत का 'शकील'
मुझको अपने दिल-ए-नाकाम पे रोना आया

Comments/Credits:

			 % Credits: Abhay Phadnis, U V Ravindra, Amit Malhotra
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image