Browse songs by

ai dil ai diivaane

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


ऐ दिल ऐ दीवाने -३
आग लगा ली क्यों दामन में
ओ ज़ालिम चाहत के बहाने
ऐ दिल ऐ दीवाने ...

जुर्म नहीं था दिल का लगाना
समझा कब नदान ज़माना
एक नज़र और कितनी बातें
एक खामोशी लाख फ़साने
ऐ दिल ऐ दीवाने ...

ये तो नहीं है तेरी मंज़िल
दूर बहुत है अपना साहिल
अरमानों की नाज़ुक कश्ती
लगी है तूफ़ां से टकराने
ऐ दिल ऐ दीवाने ...

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image