Browse songs by

abhii shaam aayegii nikale.nge taare

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image



( अभी शाम आयेगी निकलेंगे तारे
मगर तुम ना होगे ) -२
पुकारेंगे रो-रो के तुमको नज़ारे
मगर तुम ना होगे


तुम्हारा पता चाँद पूछेगा मुझसे
तो मैं क्या कहूँगी
छुपा लूँगी मुखड़ा झुका लूँगी आँखे
मगर चुप रहूँगी
( तुम्हारी शिक़ायत करेंगे सितारे
मगर तुम ना होगे ) -२
अभी शाम आयेगी निकलेंगे तारे
मगर तुम ना होगे


चलेंगी अगर ठंडी ठंडी हवायें
सतायेंगी मुझको
कहीं दूर बंसी की मीठी सदायें
रुलायेंगी मुझको
( मैं ढूँढुन्गी तुमको ओ मेरे सहारे
मगर तुम ना होगे ) -२
अभी शाम आयेगी निकलेंगे तारे
मगर तुम ना होगे

Comments/Credits:

			 % Contributor: Malini Kanth, Sep 2, 2004
% provided second stanza as FITB
% Song courtesy: http://www.indianscreen.com (Late Shri Amarjit Singh)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image