Browse songs by

aayaa hai mujhe phir yaad vo zaaliim

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम
गुज़रा ज़माना बचपन का
हाय रे अकेले छोड़ के जाना
और ना आना बचपन का
आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम

वो खेल वो साथी वो झूले
वो दौड़ के कहना आ छू ले
हम आज तलक भी ना भूले - २
वो ख्वाब सुहाना बचपन का
आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम

इसकी सबको पहचान नहीं
ये दो दिन का मेहमान नहीं
मुश्किल है बहुत, आसान नहीं - २
ये प्यार भुलाना बचपन का
आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम

मिल कर रोये फ़रियाद करें
उन बीते दिनों की याद करें
ऐ काश कहीं मिल जाये कोई - २
वो मीत पुराना बचपन का
आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Ravi Kant Rai (rrai@plains.nodak.edu)
% Credits: Preeti Ranjan Panda (ppanda@ics.uci.edu)
%          Rahul Upadhyay
% Editor: Anurag Shankar (anurag@astro.indiana.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image