Browse songs by

aavaaraa bha.Nvare jo haule haule gaaye

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


आवारा भँवरे जो हौले हौले गाये
फूलों के तन पे हवाएं सरसराएं

कोयल की कुहू कुहू
पपीहे की पिहू पिहू
जंगल में झींगर की झाँय झाँय
नदिया में लहरें आयें
बलखायें छलकी जायें
भीगी होंठों से वो गुनगुनाएं
गाती है साहिल, गाता है बहता पानी
गाता है ये दिल सुन
सा रे गा मा पा धा नि सा रे

रात जो आये तो सन्नाटा छाये तो
टिक-टिक करे घड़ी, सुनो
दूर कहीं गुज़रे रेल किसी पुल पे
गूँजे धड़धड़ी, सुनो
संगीत है ये, संगीत है
मन का संगीत सुनो
बाहों में लेके बच्चा माँ जो कोई लोरी गाये
ममता का गीत सुनो

आवारा भँवरे जो हौले हौले गाये
फूलों के तन पे हवाएं सरसराये

भीगे परिन्दे को ख़ुद को सुखाने को
पर फड़्फड़ाते हैं, सुनो
गाय भी, बैल भी गले में पड़ी घंटी
कैसे बजते हैं, सुनो
संगीत है ये, संगीत है
मन का संगीत सुनो
बरखा रानी बूँदों की
धरती का गीत, सुनो

Comments/Credits:

			 % Transliterator: K Vijay Kumar
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image