Browse songs by

aao manaaye.n jashn\-e\-mohabbat

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


कि: हुं हुं
ल: हो
कि: हे हे
दो: आओ मनायें जश्न-ए-मोहब्बत
जाम उठायें जाम के बाद
शाम से पहले कौन ये सोचे
क्या होना है शाम के बाद
आओ मनायें

ल: हमारी तमन्ना तुम्हें प्यार करना
हमें और करना क्या -२
कि: मोहब्बत में रुसवा हुये भी तो क्या है
दुनिया से डरना क्या
ल: आगे कोई इल्ज़ाम नहीं है
चाहत के इल्ज़ाम के बाद
दो: आओ मनायें जश्न-ए-मोहब्बत
जाम उठायें जाम के बाद
आओ मनायें

कि: ये आलम है जैसे उड़ा जा रहा हूँ
तुम्हें ले के बाँहों में -२
ल: तुम्हारे लबों से हमारे लबों में
नहीं कोई राहों में
कि: कैसे कोई अब दिल को सम्भाले
इतने हसीं पैग़ाम के बाद
दो: आओ मनायें जश्न-ए-मोहब्बत
जाम उठायें जाम के बाद
शाम से पहले कौन ये सोचे
क्या होना है शाम के बाद
आओ मनायें

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image