Browse songs by

aa.Nkho.n aa.Nkho.n me.n har ik raat guzar jaatii hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


आँखों आँखों में हर इक रात गुज़र जाती है -२
तुम नहीं आते हो तो याद भी क्यों आती है
आँखों आँखों में हर इक रात गुज़र जाती है

हम खयालों में बुला लेते हैं अक्सर तुमको -२
जब तबीयत ज़रा तनहाई से घबराता है -२
आँखों आँखों में हर इक रात गुज़र जाती है

हर इक आहट पे यूँ हम चौंक उठा करते हैं -२
जिस तरहा बिजली घटाओं में चमक जाती है
तुम नहीं आते हो तो, याद भी क्यों आती है
आँखों आँखों में हर इक रात गुज़र जाती है

Comments/Credits:

			 % Transliterator: Rajiv Shridhar (rajiv@hendrix.coe.neu.edu)
% Date: Thu Jan 18, 1996
% Credits: Preetham Gopalaswamy (preetham@connectinc.com)
% Editor: Rajiv Shridhar (rajiv@hendrix.coe.neu.edu)
		     
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image