Browse songs by

aaj chhe.Do mohabbat kii shahanaa_iyaa.N

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


आज छेड़ो मोहब्बत की शहनाइयाँ
दिल के टुकड़े हुए और जिगर लुट गया
ग़म किसी को मिला और किसी को ख़ुशी
एक घर बस गया एक घर लुट गया
दिल के टुकड़े हुए ...

एक तरफ़ अपने डूबे सितारों का ग़म
एक तरफ़ अपनी लुटती बहारों का ग़म
दिल के लुटने की किससे शिक़ायत करूँ
कुछ इधर लुट गया कुछ उधर लुट गया
दिल के टुकड़े हुए ...

किसको अपना कहूँ अब मैं जाऊँ कहाँ
कोई देखे मुहब्बत की मजबूरियाँ
दिल लगाया तो दिल की ख़ुशी मिट गई
सर झुकाया जो मैने तो सर लुट गया
दिल के टुकड़े हुए ...

बुझ गया दिल अब रोशनी क्या करूँ
ले के उजड़ी हुई ज़िन्दगी क्या करूँ
दिल की क़िस्मत में लिखी थीं नाकामियाँ
लाख मैने बचाया मगर लुट गया
दिल के टुकड़े हुए ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image