Browse songs by

aag lag jaa_e kahii.n par to dhu_aa.n uThataa hai

Back to: main index
View: Plain Text, हिंदी Unicode, image


आग लग जाए कहीं पर तो धुआं उठता है
उड़ जाती है खबर इश्क़ हो जाये अगर तो कहां छिपता है

कहते हैं लोग मोहब्बत में
ये दिल जब दिल से मिलता है
इक फूल सा दिल में खिलता है
आग लग जाए कहीं पर ...

जब सामने वो आ जाए तो
ये साँस ज़रा रुक जाती है
ये आँख ज़रा झुक जाती है
बेसबब यूं ही ये सर ऐसे कहां झुकता है
आग लग जाए कहीं पर ...

इस इश्क़ की क्या तारीफ़ करूं
दिल का इक अरमान है ये
अरमान नहीं तूफ़ान है ये
रोकने से भी ये तूफ़ान कहां रुकता है
आग लग जाए कहीं पर ...

View: Plain Text, हिंदी Unicode, image